Sonbhadra के सोने ने निगल ली कई ज़िंदगानियां, ये रहा सुबूत!

Sonbhadra: अभी कुछ दिन पहले ही सोने के अथाह भण्डार की खबर से दुनिया भर में हलचल मच गई थी।  जी हां, हम उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले की मारकुंडी की खदान की बात कर रहे हैं, जहां दो दिन पहले एक बड़ा हादसा हुआ और कई जानें चली गईं।

0

Sonbhadra: सोने के अथाह भण्डार की अफवाह से दुनिया भर में चर्चा में आये सोनभद्र के मारकुंडी में खदान ढहने से पांच लोगों की मौत हो गयी है। इस खदान में मारे गये दो मजदूरों के शव पहले ही मिल गये थे। बाकी तीन शव अब बरामद हुए हैं।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृत मजदूरों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये देने और घायलों के समुचित इलाज की घोषणा की है।

पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव सहित वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में पोकलेन मशीन की मदद से खदान में बचाव कार्य अभी भी जारी है। यह हादसा शुक्रवार की शाम को एक पत्थर के खदान के ढहने से हुआ।

उत्तर प्रदेश का सोनभद्र इन दिनों सोने को लेकर चर्चा में रहा।  बाद में जियोलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने  सिर्फ 160 किलो सोना होने का दावा किया है। जीएसआई के निदेशक डॉजीएस तिवारी ने बताया कि सोनभद्र की खदान में 3000 टन सोना होने की बात जीएसआई नहीं मानता। सोनभद्र में 52806. 25 टन स्वर्ण अयस्क होने की बात कही गई है न कि शुद्ध सोना। सोनभद्र में मिले स्वर्ण अयस्क से प्रति टन सिर्फ 3. 03 ग्राम ही सोना निकलेगा। पूरे खदान से 160 किलो सोना ही निकलेगा।