उत्तर प्रदेश: अब गेहूं चावल के साथ मिलेगा कंडोम और सैनेटरी पैड

प्रदेश में करीब 80 हजार दुकानदार हैं। लोगों को जागरूक करने के लिए शासन ने इसकी मंजूरी दे दी है। जो वस्तुएं राशन की दुकान में बेची जानी हैं, उनमें प्रमुख रूप से सैनेटरी पैड, कंडोम, साबुन, ओआरएस घोल, शैंपू, साबुन, पेन, कापी आदि शामिल हैं।

0

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सरकारी राशन दुकानदार (Government ration shopkeepers) अब अपने कार्डधारकों की सहूलियत और जागरूकता के लिए गेंहू, चावल के साथ कंडोम (condoms) और सैनेटरी पैड (sanitary pads) भी दुकान से वितरित करेंगे। खाद्य रसद विभाग ने इसकी अनुमति दे दी है। खाद्य आयुक्त मनीष चौहान ने कहा, “प्रदेश में करीब 80 हजार दुकानदार हैं। लोगों को जागरूक करने के लिए शासन ने इसकी मंजूरी दे दी है। जो वस्तुएं राशन की दुकान में बेची जानी हैं, उनमें प्रमुख रूप से सैनेटरी पैड, कंडोम, साबुन, ओआरएस घोल, शैंपू, साबुन, पेन, कापी आदि शामिल हैं।”

उन्होंने बताया, “राशन उपभोक्ता महीने भर के सामान के साथ इसे भी खरीद सकते हैं। प्रदेश के कोटेदार लाभांश कम होने का हवाला देकर इसकी लंबे समय से मांग कर रहे थे। इसी को देखेते हुए यह अनुमति दी गई है।”

सार्वजनिक वितरण प्राणाली में एपीएल आदि योजनाओं के बंद होने के बाद अन्त्योदय और खाद्य सुरक्षा का काम बचा है। ऐसे में दुकानदारों का लभांश भी कम हो गया है, जिसके बाद अब सरकार ने इस काम की मंजूरी दी है। दुकानदारों का कहना है कि गेंहू, चावल के कमीशन से उनका खर्च नहीं निकलता है और घर चलाने में दिक्कत होती है।

खाद्य आयुक्त ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को भेजे गए आदेश में कहा है कि सरकारी राशन की दुकानों में उन्हीं कंपनियों की वस्तुएं बेची जानी चाहिए, जो एफएसएसएआई के मानकों का पालन करती हों।