Fitness Tips: कम खाना चाहते हैं तो अपनाएं ये तरीका

हाल ही एक रिसर्च से पता चला है कि लोग खुराक से ज्यादा भोजन क्यों कर लेते हैं , जिससे उन्हें मोटापे (obesity) व पेट की अन्य बीमारियों (stomach diseases) से जूझना पड़ता है। तो क्या है इसके पीछे कारण, यहां जानिए...

0

Fitness Tips: यक़ीनन, खाना (food) जब खुराक (Diet) से ज्यादा हो जाता है, तो उसका असर सेहत (health) पर पड़ता है। ऐसा कभी कभार हो तो चल सकता है। लेकिन जब ऐसा रूटीन में होने लगे तो सतर्कता जरूरी है। मान के चलते हैं कि आपकी खुराक (Diet) तीन रोटी खाने की है। लेकिन आप रोज सुबह-शाम 4 -4 रोटी का सेवन कर रहे हैं। इसका मतलब यह हुआ कि हर रोज दो रोटी ज्यादा खा रहे हैं। फिट रहने के लिए लोग खाना तक छोड़ देते हैं, कम कर देते हैं, लेकिन आपने कभी सोचा कि ऐसा क्यों होता है। खुराक से ज्यादा खाना खाने के पीछे वजह क्या है… शायद नहीं सोचा होगा।

हालांकि, जो लोग खुराक से ज्यादा भोजन करते हैं , वे भी चाहेंगे कि उनकी भी फिटनेस बनी रहे और मोटापे (obesity) का शिकार न हों। ऐसा संभव हो सकता है। दरअसल, हाल ही एक रिसर्च से पता चला है कि लोग खुराक से ज्यादा भोजन क्यों कर लेते हैं , जिससे उन्हें मोटापे (obesity) व पेट की अन्य बीमारियों (stomach diseases) से जूझना पड़ता है। तो क्या है इसके पीछे कारण, यहां जानिए…

new research on fooding
new research on fooding

अगर शरीर को सुडौल बनाने के लिए कम भोजन करना चाहते हैं तो अच्छा होगा कि अकेले में खाना खाएं। एक नए शोध (new research) से पता चला है कि व्यक्ति दोस्तों और परिजनों के साथ अधिक मात्रा में भोजन कर लेता है। अमेरिकन सोसाइटी ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन (American Society of Clinical Nutrition) में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि ‘सामाजिक रूप से’ भोजन करते वक्त व्यक्ति अधिक खाना खाता है, जबकि अकेले में वह उससे कई गुणा कम भोजन करता है।

ब्रिटेन में बर्मिघम विश्वविद्यालय की रिसर्चर हेलेन रुडॉक ने कहा, “हमें इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि अकेल भोजन करने की तुलना में व्यक्ति परिजनों और दोस्तों के साथ बैठकर अधिक खाना खाता है।”

पिछले अध्ययनों में पाया गया है कि दूसरों के साथ खाने वालों ने अकेले भोजन करने वालों की तुलना में 48 प्रतिशत तक अधिक भोजन खाया और मोटापे से ग्रस्त महिलाओं ने सामाजिक रूप से अकेले खाने के मुकाबले 29 प्रतिशत तक अधिक भोजन किया।

अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने सामुदायिक भोजन में शोध के 42 मौजूदा अध्ययनों का मूल्यांकन किया।

शोधकर्ता ने पाया कि व्यक्ति दोस्तों और परिजनों के साथ अधिक मात्रा में भोजन इसलिए करता है, क्योंकि दूसरों के साथ खाना खाने से भोजन लेने की मात्रा बढ़ती है और यह आनंदमय होता है।